You were the reason that we never cried to go home


To dearest Tender Care Home,

You were the reason that we never cried to go home you gave us all the love, care, shelter, warmth and the best SEV BHAJI

YOU GREW - WE GREW

You were a little humble place in the shadow of a gulmohar tree and we were tiny little kids who knew only to follow shadow of others and from followers of shadow you turned us into leaders who would never forget how you taught us to be humble grounded and honest in all the circumstances.

Tender Care Home !! यह केवल एक स्कूल नहीं हैं। यह एक घर हैं। यह एक ख्वाब है, यह एक भावना है, और सबसे महत्त्वपूर्ण, यह भंडार है यादों का। इस घर मे न जाने कितने बच्चों ने अपने भविष्य के रंगीन ख्वाब बूने हैं। और यह ख्वाब बूनने की कला इन बच्चों को इसी ने सिखाई है।

इसकी शुरुवात हुई थी सन् 1996 मे जब इस संस्था के निर्माते श्रीमती. शैलजा केकरे मॅम और विंग. कमांडर. केकरे सर ने उनके एक सपने को हकीकत मे लाया और निर्माण किया एक ऐसी स्कूल का जिसने शिक्षा के क्षेत्र में अपनी एक अलग पहचान बनाई।

जब शुरुवात हुई थी तब इस घर में केवल तीन बच्चे थे और देखते ही देखते इसका विस्तार इतना बढ़ गया की आज TCH के परिवार में हजारों बच्चे जुड गये है। गुलमोहर की छाया में बनी यह स्कूल खुद एक वटवृक्ष बन गयी और इस वटवृक्ष ने हज़ारो बच्चों को ज्ञान और संस्कार रुपी छाया दी हैं।

उच्च दर्जे की शिक्षा फौजी अनुशासन और नैतिक मूल्यों के मिश्रन से इस स्कूल ने अपने सभी बच्चों के जीवन को सींचा है। यहा से निकला हर एक छात्र जीवन मे जो मुकाम हासिल करें, उसकी सफलता की नीव होगी हमारी स्कूल TCH. हम सब बच्चो के लिये TCH बिल्कुल हमारे घर की तरह है, जहाँ माँ जैसा प्यार और आवश्यकता पड़ने पर पिता जैसी डाट-फटकार भी मिलती है। इस स्कूल ने हमें कितनी ही अनगिनत यादें दी है जिन्हे हम जीवनभर संजोकर रखेंगे।

असेंब्ली का वो शोरगुल, ग्राऊंड पर चिल्लाते बच्चों की आवाज़, रूपाली मॅम की अनाउंसमेंट, तारा माऊशी की बजाई हुई बेल की आवाज, ये सब आज भी हमारे कानों मे गुंजता है। मेस के खाने का स्वाद आज भी हमारी जुबान पर हैं। स्पोर्ट्स वीक और इवेंट्स का उत्साह आज भी हम महसूस करते है। स्कूल का हर एक किस्सा हमारी ज़हन में इतना ताज़ा है कि मानो कल की ही बात हो।

दुनियाभर में लोग नारीशाक्ति की बातें करते हैं। लेकिन जब एक स्त्री अपने सपनों मे विश्वास रखकर उसे साकार करने का सामर्थ्य रखती है तो क्या होता हैं इस बात का ज्वलंत उदाहरण और मिसाल है Tender Care Home.

मैं TCH के मेरे सभी दोस्तो की और से केकरे सर और मॅम, शीतल केकरे मॅम इन सबका आभार व्यक्त करता हूँ। एक स्कूल उसके शिक्षकों के बिना अधूरी है। तो उन सभी शिक्षको को मेरा नमन जो अपनी सारी जिंदगी हम बच्चों की जिंदगी बनाने मे समर्पित करते हैं। और धन्यवाद उस प्रत्येक व्यक्ति का जिसने प्रत्यक्ष अप्रत्यक्ष रुप से इस स्कूल और इसके छात्रो के हित में अपना योगदान दिया है।

किसी कलम की स्याही में इतनी ताकत नही कि वो हमारे स्कूल के प्रति हमारी कृतज्ञता को शब्दों मे व्यक्त कर सकें। तो इस कृतज्ञता को व्यक्त करने का एक ही रास्ता है। हमारी स्कूल ने हमे दिये हुए ज्ञान और संस्कार के बलबुते पर हम जीवन की हर एक लडाई लडे। उसमे विजयी हो अथवा ना हो परंतु ऐसे चरित्र का प्रदर्शन करे जिससे हमारी स्कूल की शोभा बढे। और यही हमारी स्कूल का सबसे बडा सम्मान होगा।

Tender Care Home को अपने 25 वे स्थापना दिवस के उपलक्ष में हार्दिक शुभकामनाए ।

धन्यवाद!

एक Tender Carian

Sarthak Akkar

Featured Posts
Recent Posts
Archive
Search By Tags
Follow Us
  • Facebook Basic Square
  • Twitter Basic Square
  • Google+ Basic Square

All content is the property of TCH. Copyright TCH 2018